Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana: उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल ही में स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की घोषणा की थी। यह Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana द्वारा शुरू की गई है।

यह योजना मूल रूप से राज्य के मजदूरों या राज्य के श्रमिक वर्ग के लिए उन्हें विभिन्न धार्मिक स्थलों पर भ्रमण की सुविधा प्रदान करने के लिए शुरू की गई थी इसके अनुसार, लाभार्थी श्रमिक को 12,000 रुपये की राशि मिलेगी, जिसका उपयोग वह विभिन्न धार्मिक स्थलों और तीर्थयात्रियों के दर्शन के लिए कर सकता है।

12 हजार रुपये की यह स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा धार्मिक स्थलों के दर्शन के लिए दी जाती है इस लेख में हम इस इस योजना से संबंधित सभी जानकारी देने वाले हैं तो आप इस लेख को पूरा पढ़े।

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना आवेदन पत्र भरने की प्रक्रिया जल्द ही उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की जाने वाली है। राज्य सरकार। रुपये प्रदान करेगा। धार्मिक यात्रा के लिए Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana के तहत तीर्थ यात्रा के लिए चयनित श्रमिकों में से प्रत्येक को 12,000 रुपये। वे श्रमिक जो लगभग 6.5 लाख व्यावसायिक प्रतिष्ठानों और यूपी में 20,500 कारखानों और कार्यशालाओं में कार्यरत हैं, धार्मिक यात्रा कर सकते हैं। इसके लिए मजदूरों को स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022: Highlights

योजना का नामस्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना
किस ने लांच कीउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के नागरिक
उद्देश्यश्रमिकों को धार्मिक यात्रा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2022
आर्थिक सहायता₹12000

Benefits of Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana

• इस Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana के तहत कारखानों और कार्यशालाओं के श्रमिकों को धार्मिक यात्राओं के लिए 12,000 रुपये की वित्तीय सहायता मिलेगी।

• तीर्थ यात्रा की राशि सीधे श्रमिकों के बैंक खातों में ट्रांसफर की जाएगी।

• करीब डेढ़ करोड़ श्रमिकों को धार्मिक यात्राओं के लिए यह यात्रा भत्ता मिलेगा।

• उत्तर प्रदेश सरकार की इस आर्थिक मदद से कार्यकर्ता कई धर्म स्थलों की यात्रा कर सकते हैं।

• कार्यकर्ताओं को उत्तर प्रदेश के विभिन्न धार्मिक स्थलों जैसे अयोध्या, हस्तिनापुर, गोरखपुर, मथुरा, गोरखनाथ मंदिर, शाकुंभरी देवी, विंध्यवासिनी देवी और वाराणसी व प्रयागराज के धार्मिक स्थलों पर जाने का मौका मिलेगा।

Eligibility criteria for Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana

• उम्मीदवार जो इस Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें कारखानों, कार्यशालाओं और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों में कार्यरत होना चाहिए।

• आवेदक उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण बोर्ड के तहत पंजीकृत मजदूर होना चाहिए।

• यदि आवेदक इस स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना का लाभ लेना चाहता है तो वह उत्तर प्रदेश का स्थायी नागरिक होना चाहिए।

Document required for Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022

• आधार कार्ड
• राशन कार्ड
• आईडी कार्ड
• निवास प्रमाण पत्र
• पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
• मोबाइल नंबर

Application Form for Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022

• सबसे पहले उत्तर प्रदेश श्रम विभाग के आधिकारिक पोर्टल www.uplabour.gov.in पर जाएं

• फिर होम पेज पर स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के विकल्प पर क्लिक करें।

• आपको यह स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना आवेदन फॉर्म मिल जाएगा। इस फॉर्म को डाउनलोड करें और इसे मैन्युअल रूप से भरना शुरू करें।

• सभी विवरण जैसे नाम, पिता का नाम, माता का नाम,
जन्म तिथि, लिंग, भौतिक स्थिति, आधार कार्ड संख्या, स्थायी पता और मोबाइल नंबर भरें।

• इस फॉर्म को भरने के बाद सभी आवश्यक दस्तावेज जैसे कि आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो, आवासीय प्रमाण प्रमाण पत्र यदि और बैंक पासबुक विवरण संलग्न करें और फॉर्म के नीचे अपना हस्ताक्षर रखें।

• अब वेरिफिकेशन के बाद आप इस फॉर्म को संबंधित विभाग में जमा कर सकते हैं।

• फॉर्म जमा करने के बाद आप आवेदन की स्थिति ऑनलाइन देख सकते हैं।

Homepagenbsslup.in

Leave a Comment

error: Content is protected !!